Connect with us
https://qnewsindia.com/wp-content/uploads/2023/07/en.png.webp

मेरठ

पिटबुल का आतंक फिर एक बच्चे पर किया जानलेवा हमला।

Avatar photo

Published

on

Spread the love

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के नंगला ताशी गांव निवासी इमरान पुत्र शगीर ने थाने पर तहरीर देते हुए बताया कि उसका 9 वर्षीय पुत्र इब्राहीम
शुक्रवार की सुबह लगभग 9:30 बजे घर के पास ही स्थित दुकान पर बाल कटवाने के लिए जा रहा था। बताया कि दुकान के रास्ते में ही एक व्यक्ति विजय ने अपने घर में पिटबुल कुत्ता पाल रखा है। आरोप है कि उक्त पिटबुल ने एक वर्ष पूर्व भी इब्राहिम पर हमला कर कई जगह काट लिया था। तब से अब तक उक्त पिटबुल लगभग आधा दर्जन लोगों को चोटिल कर चुका है। शुक्रवार को इसी पिटबुल ने छात्र इब्राहिम पर जानलेवा हमला कर दिया। बच्चे को कई जगह से नोंच डाला। बच्चे की चीख पुकार सुनकर आस पड़ोस के लोग इकट्ठा हो गए और किसी तरह बच्चों को पिटबुल के चंगुल से छुड़ाया। बच्चे के घायल होने पर परिजन विजय के घर शिकायत करने के लिए गए तो विजय ने गाली गलौच करते हुए अभद्र व्यवहार किया। पीड़ित परिजनों ने घायल छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया। जिस पर चिकित्सकों ने घायल को दिल्ली में इंजेक्शन लगवाने के लिए भेज दिया। उपचार के बाद छात्र की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। पीड़ित परिजनों ने आरोपी कुत्ता मालिक विजय के खिलाफ थाने पर तहरीर दी। जिस पर थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दिया है। थाना कंकर खेड़ा कार्यवाहक थाना प्रभारी श्यौपाल सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, मामले की जांच जारी है। कार्रवाई निश्चित की जाएगी।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मेरठ

भारती फाउंडेशन का गुणवत्ता सहायता कार्यक्रम भागीदार सरकारी स्कूलों को सशक्त बनाता है

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ : भारती फाउंडेशन द्वारा गुणवत्ता सहायता कार्यक्रम (क्यूएसपी) विभिन्न हस्तक्षेपों के माध्यम से छात्रों के बीच व्यापक विकास को बढ़ावा देने के लिए समर्पित है। सरकारी स्कूलों में अनुकूल शिक्षण माहौल के निर्माण पर जोर देते हुए, क्यू-एस-पी ने छात्रों और शिक्षकों दोनों पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। कार्यक्रम ने 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 850 से अधिक भागीदार सरकारी स्कूलों में छात्रों के समग्र विकास और स्कूल के माहौल में समग्र सुधार के लिए सह-शैक्षणिक हस्तक्षेप की सफलतापूर्वक सुविधा प्रदान की है। कार्यक्रम से 3.5 लाख से अधिक छात्र और 13,000 से अधिक शिक्षक लाभान्वित हुए हैं।

QSP के तहत और DIET, दुमका के सहयोग से हाल ही में झारखंड के दुमका में आयोजित एक जिला स्तरीय TLM शिक्षकों के लिए कुछ अलग हटकर सोचने, नयी और नवीनतम शिक्षण सामग्री बनाने में और उनके कौशल का उपयोग करने के लिए एक मंच का काम करता है। इस कार्यक्रम में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के कुमार हर्ष, प्राचार्य सह अनुमंडल शिक्षा पदाधिकारी, अनुराग मिंज, क्षेत्रीय शिक्षा पदाधिकारी, मधुश्री- प्रभारी प्राचार्य डायट, अजय कुमार गुप्ता, सदस्य झारखण्ड अकादमिक कौंसिल, प्रियंकर परमेश, संकाय सदस्य इत्यादि उपस्थित थे। सर्वश्रेष्ठ TLM डिजाइन करने के लिए 12 शिक्षकों को एजुकेशनल रॉकस्टार अचीवर्स पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ये शिक्षण अधिगम सामग्रियां उन अधिगमों का परिणाम हैं जो शिक्षकों को उनकी दिन-प्रतिदिन की कक्षाओं के अनुभवों से प्राप्‍त हुए हैं। सरल अभिनव समाधानों के साथ, इन शिक्षण अधिगम सामग्रियों को नया बनाया जा सकता है, जिससे विद्यार्थियों के लिए सीखना अधिक आसान और आनंददायक हो जाएगा।

क्यूएसपी जिन प्रमुख क्षेत्रों में काम करता है उनमें से एक, स्कूलों को सीखने के जीवंत संस्थानों में बदलने के लिए एक संयुक्त दृष्टिकोण बनाकर स्कूल नेतृत्व और शिक्षकों की भागीदारी को मजबूत करना है। इस स्तंभ के तहत, दुमका के 35 भागीदार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को नवीन शिक्षण-शिक्षण सामग्री के माध्यम से छात्रों के लिए सीखने के माहौल को समृद्ध करने के लिए प्रशिक्षित किया गया था।

Continue Reading

मेरठ

विधायक के आमरण अनशन धरना स्थल पर देर रात रागनी ओर शायरी एक साथ

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ कलेक्ट्रेट परिसर में आमरण अनशन पर बैठे सपा विधायक अतुल प्रधान के समर्थकों ने देर रात तक धरना स्थल पर माहौल बनाये रखा वही देर रात धरना स्थल पर रागनी ओर मुशायरा भी हुआ जिसमें मेरठ के शायरों ने अपनी शायरी से लोगो की वाह वाहिया बटोरी वही मुशायरे की शुरुआत रागनी से हुई ओर कलाकारों ने अपनी आवाज का जादू बिखेरा ओर रागनी गाई।

देर रात कलेक्ट्रेट धरना स्थल पर महानगर अध्यक्ष आदिल चोधरी के नेतृत्व में मुशायरे का प्रोग्राम रखा गया साथ ही मेरठ के रागनी गाने वाले कलाकारों को भी बुलाया गया । धरना स्थल पर कलाकारों ने रागनी के गीतों से लोगो मे जोश भर दिया तो वही मुशायरे की शुरुआत करते हुए शायरों ने विधायक अतुल प्रधान की शान में शायरी पेश की। वही शायरो ने अपने कलाम में मोहब्बतों के रंग बिखेरे ओर विधायक अतुल प्रधान को लोगो का मसीहा कहा।

उन्होंने कहा कि इस देश की खूबसूरती हिन्दू मुस्लिम का भाईचारा कायम रखना है और यही वजह है कि विधायक अतुल प्रधान के आमरण अनशन पर सभी मजहब के लोग शामिल है उन्होंने कहा कि जिसका नेता दिन ओर रात नही देखता है ओर जनता के लिये आमरण अनशन पर बैठ गया हो उस विधायक का साथ हर मज़हब ओर हर जाति के लोग साथ देने के लिये धरना स्थल पर मौजूद है उन्होंने ये भी कहा कि जब तक अनशन चलेगा तब तक सब लोग विधायक अतुल प्रधान के साथ है।

किसान नेता तालिब रिज़वी ने बताया कि मौसम ठंडा होने और मच्छरों की वजह से लोग रात में आराम नही कर पा रहे है जिसकी वजह से रात भर जग कर रात काटनी पड़ती है तो इसी को देखते हुए आज रात में रागनी ओर मुशायरे का प्रोग्राम रखा गया था जिससे लोगो का टाइम पास हो सके और लोग बोर ना हो । उन्होंने बतलाया कि ये सभी वो कलाकार है जो अतुल प्रधान को अपना भाई अपना बेटा समझते है और साथ देने के लिये यहां आये हुए है।

Continue Reading

मेरठ

विधायक अतुल प्रधान ने आमरण अनशन पर किया सुंदर कांड का पाठ

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ। कलेक्ट्रेट परिसर में मंगलवार को निजी अस्पतालों खिलाफ चल रहा एमएलए अतुल प्रधान का आमरण  अनशन दूसरे भी जारी रहा। इस दौरान उन्हाेंने अपने जन्म दिन पर अनशन पर बैठे हुए मंगलवार को  सुंदर कांड का पाठ कराया।

इस दौरान मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए न्यूटिमा कहा कि सबको पता है 2014 से अस्पताल कागजों में पार्किग  स्थल दिखाकर वहां पर अपनी ओपीडी कर रहा था। ऐसा भी नहीं अधिकारियों को पता नहीं था। मामला हाईकोर्ट तक पहुंचा हुआ है।  सील की कार्रवाई रूकने  पर बोलते हुए विधायक अतुल प्रधान ने कहा आप को खुद पता है कि किस कारण से सिलिंग टली है। अस्पताल 2014 से कानून काे तोडता हुआ आ रहा था। नोटिस मिलने के बाद भी अस्पताल जवाब नहीं दे रहा था। नोटिस का जवाब न देने पर मेरठ विकास प्राधिकरण ने सीज की कार्रवाई का नोटिस जारी किया। जब कि अस्पताल को एक सप्ताह में जवाब देना था।

उन्होंने नियम सबके लिए बराबर है अगर अस्पताल वाले हाई कोर्ट का रुख करते है वहां पर भी उन्हें असफलता मिलेगी। उन्होंने बताया उनका मकसद किसी अस्पताल को बदनाम करना नहीं है। बल्कि व्यवस्था को सुधार को लेकर है। उन्होंने बताया उन्हें रालोद, आजाद अधिकार सेना , असपा, सामाजिक संगठन, भीम आर्मी का समर्थन मिल रहा है। उन्होंने साफ कहा यह लडाई उनकी नहीं बल्कि जनता है। जिनका खून प्राइवेट अस्पताल वालों द्वारा चूसा जा रहा है। जब तक पुलिस प्रशासन इस मामले में कोई ठोस कदम नहीं उठाता है तो उनका अनशन जारी रहेगा।

Continue Reading

Trending

Updates