Connect with us
https://qnewsindia.com/wp-content/uploads/2023/07/en.png.webp

मेरठ

सनातन पूरे विश्व के लिए जरूरी – सुबूही खान, अधिवक्ता सर्वोच्च न्यायालय व संस्थापिका राष्ट्र जागरण मंच

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ। स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्वविद्यालय में जी 20 भारत की अध्यक्षता एवं आजादी के अमृत महोत्सव सहित एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत राष्ट्र बोध व्याख्यान माला समारोह का भव्य आयोजन किया गया।

मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद डॉ. सुधांशु त्रिवेदी एवं विशिष्ट वक्ता  सुबूही खान ने सुभारती परिसर पहुंचकर सुभारती अस्पताल के कैंसर इंस्टीट्यूट का भ्रमण किया। इसके बाद शहीद स्मारक में शहीदों के नाम वृक्षारोपण किया।

मांगल्या प्रेक्षागृह में कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि डॉ.सुधांशु त्रिवेदी, विशिष्ट वक्ता  सुबूही खान,  सलाहकार संपादक विनोद अग्निहोत्री, सुभारती समूह के संस्थापक डॉ.अतुल कृष्ण, कुलपति मेजर जनरल डॉ.जी.के.थपलियाल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ.शल्या राज, लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डॉ. रोहित रविन्द्र, सुभारती अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ.कृष्णा मूर्ति ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस दौरान फाइन आर्ट के विद्यार्थियों द्वारा वंदना प्रस्तुत की गई।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ.शल्या राज ने सभी अतिथियों का अभिनंदन किया। उन्होंने स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्वविद्यालय के उद्देश्यों से सभी को रूबरू कराया। उन्होंने बताया कि सुभारती विश्वविद्यालय शिक्षा, सेवा, संस्कार एवं राष्ट्रीयता के भाव से देशहित में कार्य कर रहा है। इसी क्रम में सुभारती विश्वविद्यालय द्वारा शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में स्कूल व कॉलेज के साथ स्वास्थ्य केन्द्र स्थापित किये हुए है। उन्होंने सुभारती विश्वविद्यालय के सेवाभाव सहित शिक्षा व चिकित्सा के क्षेत्र में किये जा रहे उत्कृष्ट कार्यो से सभी को रूबरू कराया।

विशिष्ट वक्ता  सुबूही खान ने कार्यक्रम को सम्बोधित कर कहा कि धर्म को बांटा नही जा सकता है और झूठ में सच का साथ देना ही धर्म है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र से बढ़कर कुछ नही हो सकता है और जातिवाद, क्षेत्रवाद, वामपंथी विचारधारा हमारे देश को कमजोर कर रही है। उन्होंने कहा कि वामपंथी हमेशा नारे लगाने व लड़ने हेतु प्रेरित करते है, जिससे देश में टकराव की स्थिति पैदा हो रही है। उन्होंने कहा कि हमारी पहचान हमारे चरित्र व संस्कारों से होती है और हमारी प्राकृतिक संपदा से ही हम विश्व गुरु कहलाते है। उन्होंने कहा कि सनातन की पूरे विश्व को जरूरत है और भारत को अखंड सनातन के सिद्धांत पर अमल कर बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमे अपने राष्ट्र को जानना अति आवश्यक है, क्योंकि असंख्य महापुरुषों शहीदों ने अपने प्राणों की आहुति देकर हमारे देश की संस्कृति की रक्षा कर हमें आजादी दिलाई है। उन्होंने कहा कि भारत देश किसी पंथ के विरुद्ध नही है लेकिन वर्तमान में बौद्धिक आतंकवाद युवाओं को मानसिक गुलाम बनाकर उन्हें राष्ट्र विरोधी बनाने का प्रयास कर रहा है। अपने भाषण के अंत में उन्होंने राष्ट्र भक्ति गीत सुनाकर सभी को भाव विभोर कर दिया।

मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद डॉ. सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि गुलामी की मानसिकता को खत्म करना होगा और देश की सांस्कृतिक विरासत पर हमें गर्व करना चाहिए। उन्होंने भारत के हजारों वर्ष पूर्व इतिहास पर प्रकाश डालते हुए उन महत्वपूर्ण बिंदुओं से सभी को रूबरू कराया जिन्हें कभी सोचा नहीं गया। उन्होंने कहा कि जब भारत पर मुगलों व अन्य हमलावारों का शासन था इसी काल खंड में भारत के वीरों ने हमारी संस्कृति की रक्षा कर आज हमारे लिये भारत की गौरवशाली सांस्कृतिक विरासत छोड़ी है। उन्होंने कहा कि भारत में तेज गति से अब विकास हो रहा है और 2047 तक भारत विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि जैसे शरीर में आत्मा सबसे महत्वपूर्ण है ऐसे ही पृथ्वी पर भारत है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी यही संदेश दे रहे है कि मानसिक गुलामी से निकलकर अपनी विरासत पर गर्व करना चाहिए। उन्होंने सुभारती समूह के संस्थापक डॉ. अतुल कृष्ण को बधार्द देते हुए कहा कि सुभारती परिसर में प्रवेश करते ही देश भक्ति का भाव जाग्रत हो जाता है। उन्होंने विश्वविद्यालय के सभी संकाय, विभाग व मार्ग के नाम विभिन्न महापुरुषों के नाम पर स्थापित होने हेतु गर्व प्रकट करते हुए कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय का परिसर देश के लिये प्रेरणादायी है।

मुख्य अतिथि डॉ. सुधांशु त्रिवेदी को सुभारती विश्वविद्यालय द्वारा डी लिट की उपाधि प्रदान कर सम्मानित किया गया। विशिष्ट अतिथि  सुबूही खान को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य समन्वयक डेंटल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. निखिल श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापित किया। मंच का संचालन डॉ. विवेक कुमार, डॉ. सीमा शर्मा, डॉ. अंशुल त्रिवेदी, डॉ. अभिनव ने चरणबद्ध किया। आजाद हिन्द गान से कार्यक्रम का समापन हुआ।कार्यक्रम में  विधायक अमित अग्रवाल, महानगर संघचालक विनोद भारतीय, विनीत शारदा, बिजेन्द्र अग्रवाल, डॉ. राहुल मित्तल, डॉ. राजेश तिवारी, डॉ. लियाकत अली, श्री हर्ष अग्रवाल,  विमल शर्मा,  मोहन गुर्जर,  सचिन सिरोही,  विकास त्यागी सूर्यकांत द्विवेदी,  भूपेन्द्र दूबे,  राजेन्द्र सिंह इत्यादि सहित मुख्य रूप से सम्मिलित हुए। कार्यक्रम आयोजन समिति के सभी सदस्यों का विशेष सहयोग रहा।

मेरठ

वारंट कोर्ट से निरस्त होने के बाद भरी झुठे मुकदमें में फंसाने का कर रहे प्रयास

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ।  मंगलवार को  एसएसपी कार्यालय पहुंची एक युवती ने कंकरखेड़ा पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा  है कंकरखेड़ा पुलिस कोर्ट से निरस्त हो चुके वारंट के आधार पर  रात के समय उनके घर पर दबिश दे रही है। थाने के पुलिसकर्मी महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार कर रहे है। उसने थाना पुलिस पर आरोप लगाया है पुलिस ने उसके पिता व भाई को जबरन 151 चालान काट दिया है।

एसएसपी कार्यालय पहुंची शोभापुर निवासी मनीषा ने बताया  उनके  घर पर थाना कंकरखेड़ा की पुलिस लगातार दबिश दे रही है एवं प्रार्थीनी के भाइयों को जबरदस्ती घर से उठाकर झूठे मुकदमों में फंसाना चाहते हैं  20 नवम्बर  की रात्रि 1.00 बजे पुराना वारंट लेकर व  21 को  जबरन घर में घुस रहे है।  जिसकी रिकॉर्डिंग प्रार्थीनी के पास है, जबकि प्रार्थी के भाई टेटे उर्फ कैलाश के वारंट अपर जिला जज कोर्ट संख्या- 20 से 4 नवम्बर  को निरस्त हो चुके थे जिसकी कॉपी प्रार्थीनी ने पुलिस वालों को दिखाई थी इसके बावजूद भी पुलिस चौकी फाजलपुर कंकरखेड़ा का समस्त स्टाफ बेवजह हमें तंग व परेशान कर उत्पीड़न कर रहे हैं । उसने आरोप लगाया कि प्रार्थीनी के भाई सचिन के साथ मारपीट की उसका गला दबाया और जबरदस्ती अपने साथ उठाकर पुलिस चौकी फाजलपुर ले गये प्रार्थीनी के पिताजी सचिन को छुटाने जब पुलिस चौकी गये तो इन लोगों ने प्रार्थी के भाई सचिन व पिताजी जयभगवान का आपसी झगडा दिखाकर धारा 151 सीआर. पी.सी. में झूठा चालान काटा दिया।  पीड़ित महिला ने कप्तान को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगायी है।

Continue Reading

मेरठ

शीशे तोड़कर बंद मकान में चोरी, तीन पकड़े

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ। साकेत में शीशे तोड़कर बंद मकान में चोरी करने वाले बदमाशों को पुलिस ने पकड़ लिया है। तीन आरोपी पकड़े गए हैं। इनमें एक किशोर है। साकेत में सुभाष चंद शर्मा लंबे समय से बाहर गए हुए थे। शुक्रवार दोपहर चोरों ने उनके बंद मकान में शीशे का दरवाजा तोड़कर वारदात की थी। चोर अंदर तीन एयर कंडीशनर, दो गीजर सहित अन्य सामान चोरी किया था।

इंस्पेक्टर सिविल लाइन महेश राठौर ने बताया कि कुछ कैमरों में आरोपी कैद हो गए थे। देर रात पुलिस ने आरोपियों की पहचान करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर माल बरामद हो गया। दो आरोपियों की पहचान जतिन पुत्र राजपाल निवासी नगला बट्टू साकेत और शाहिद पुत्र अख्तर निवासी जाकिर काॅलोनी थाना लोहिया नगर के रूप में हुई, जबकि तीसरा आरोपी किशोर है। किशोर ने ही रेकी की थी। जतिन कुछ समय पहले ही जेल से बाहर आया है, जबकि शाहिद की मवाना बस अड्डे पर कबाड़ की दुकान है।

Continue Reading

मेरठ

रोते बिलखते अपनों के शव लेकर परिजन रवाना, मोर्चरी पर मची रही चींख पुकार

Avatar photo

Published

on

Spread the love

मेरठ।  गंगानगर के यू पॉकेट में खुदाई के दौरान मिटटी में दबने से मारे गये बिहार व रायबरेली के परिजन मेरठ पीएम हाऊस पहुंचे अपनों के शव देख परिजन बिलख पड़े। बार-बार बस यही कहते कि मेरठ में परिवार के गुजर-बसर के लिए आए थे। लेकिन यहां पर सबकुछ लुट गया। मोर्चरी पर सुबह से दोपहर तक परिजन रोते-बिलखते रहे। उनका दुख देख हर किसी की आंख नम हो गई।  गंगानगर यू पॉकेट में रविवार को आवासीय बेसमेंट की खोदाई के दौरान मिट्टी की ढांग गिरने से तीन मजदूरों की मौत के बाद शवों का पोस्टमार्टम परिजनों के पहुंचने के बाद हुआ। रायबरेली और बिहार से परिजन को मेरठ से पहुंचने में समय लगा। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शवों को अपने साथ लेकर रवाना हो गए।

रामचंद्र (40) पुत्र मंगल गांव समदपुर, हलौर महराजगंज रायबरेली, गुरु प्रसाद (45) पुत्र श्रीराम निवासी समदपुर हलौर महराजगंज रायबरेली और रामप्रवेश (50) वर्षीय पुत्र वासुदेव निवासी ग्राम घोरपारन जमुई बिहार के परिजन सुबह मोर्चरी पहुंचे। रामचंद्र के भाई छिद्दा ने बताया कि परिवार में पत्नी राजकला, चार बेटी दीपा, जानवी, रागिनी, जानकी और बेटा अनुज हैं। अभी तक एक बेटी की शादी हुई है। बाकी चारों बच्चे छोटे हैं। पूरे परिवार की जिम्मेदारी रामचंद्र पर थी। भाई यह कहते हुए फफक पड़े कि अब परिवार का पालन-पोषण कैसे होगा।

रामप्रवेश के भाई अनिल ने बताया कि परिवार में पत्नी सुनीता और दो बेटियां कल्पना, करिश्मा और एक बेटा रूपेश हैं। एक बेटी की शादी हुई है। दोनों बच्चों का पालन पोषण रामप्रवेश मजदूरी करके कर रहा था। गुरु प्रसाद के परिवार में पत्नी राजवती, चार बेटी शिवकांति, दिव्यांजलि, लाली और दो वर्षीय अंजलि हैं। परिवार से पत्नी राजवती अपनी दो साल की बेटी अंजलि और लाली के साथ मोर्चरी पहुंची।

राजवती के भाई राजकरण ने काफी देर तक ये नहीं बताया कि गुरु प्रसाद की मौत हो गई। पत्नी को बता रखा था कि चोट लगने के कारण उपचार चल रहा है। पोस्टमार्टम के बाद शव को बाहर लाए तो पत्नी और बेटी को जानकारी हुई। दोनों रोकर बदहवास हो गईं। राजकरण ने बताया कि चार बेटियों की जिम्मेदारी गुरुप्रसाद पर थी। अब कैसे जीवन कटेगा। उनका रुदन देखकर हर कोई रो पड़ा। रिश्तेदारों ने बताया कि तीनों परिवार बेहद गरीब हैं। ऐसे में अब उनका गुजारा कैसे होगा।

दो-दो लाख के चेक भिजवाए

ठेकेदार की तरफ से रखे दीपक ने रिश्तेदार के जरिए तीनों मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए के चेक भिजवाए। बिहार शव ले जाने के लिए एंबुलेंस के 35 हजार रुपए और रायबरेली शव ले जाने के लिए 15-15 हजार रुपए का भुगतान किया।मृतकों के परिजनों ने मुआवजा राशि और ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा किया। इस पर भावनपुर थाना प्रभारी अंडर ट्रेनी सीओ नितिन तनेजा ने श्रम विभाग के अधिकारियों से बात की। अधिकारियों ने मोर्चरी पहुंचकर मृतकों के परिवारों के बारे में जानकारी ली। एसपी देहात कमलेश बहादुर ने बताया कि ठेकेदार गोपाल शर्मा, मुकुल शर्मा और भू स्वामी रघुनाथ की गिरफ्तारी के लिए टीमें दबिश दे रही हैं। दूसरे मजदूरों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Continue Reading

Trending

Updates